Credit Score, CIBIL Score और CIBIL Report में क्या फर्क होता है?

Credit Score
Credit Score

Credit Score:क्रेडिट कार्ड से जुड़े कई टर्म्स हैं जो आमतौर पर सुनने में एक जैसे लगते हैं, जैसे कि- क्रेडिट स्कोर, CIBIL स्कोर और CIBIL रिपोर्ट एक जैसे टर्म्स लग सकते हैं, लेकिन ये अलग-अलग हैं. अगर आपको भी इन्हें लेकर कंफ्यूजन है तो हम आपको इनके बीच फर्क समझा देते हैं.

अगर आप क्रेडिट कार्डहोल्डर हैं या फिर लोन ले रखा है तो इससे जुड़े सारे टर्म्स के बारे में भी पता होना चाहिए क्योंकि आपका क्रेडिट कार्ड यूज आपका क्रेडिट रिपोर्ट तैयार करता है और आपके फाइनेंशियल हेल्थ के लिए इसका हेल्दी होना जरूरी है. क्रेडिट कार्ड को लेकर कई सारे टर्म्स हैं जो आमतौर पर सुनने में एक जैसे लगते हैं, जैसे कि- क्रेडिट स्कोर, CIBIL स्कोर और CIBIL रिपोर्ट एक जैसे टर्म्स लग सकते हैं, लेकिन ये अलग-अलग हैं. अगर आपको भी इन्हें लेकर कंफ्यूजन है तो हम आपको इनके बीच फर्क समझा देते हैं, ताकि इसके बाद आपको इसमें कोई कंफ्यूजन न रह जाए.

Credit Score क्या होता है?

क्रेडिट स्कोर से मतलब किसी भी व्यक्ति के लोन चुकाने की क्षमता से होता है. यानी अगर आप लोन लेते हैं तो कितने वक्त पर और अपना बजट बिगाड़े बिना इसे कैसे चुकाते हैं, इससे आपका क्रेडिट स्कोर बनता है. यह आपकी क्रेडिट हिस्ट्री और रिकॉर्ड से तय होता है. अगर आपका क्रेडिट स्कोर अच्छा होता है, तो इसका मतलब है कि अगर आपको लोन दिया जाता है तो आप इसे टाइम पर चुका देंगे. क्रेडिट स्कोर और CIBIL स्कोर में बस एक फर्क होता है, और वो ये है कि आपका क्रेडिट स्कोर चार क्रेडिट ब्यूरो देते हैं, वहीं, CIBIL स्कोर बस CIBIL देती है.

CIBIL Score क्या होता है?

क्रेडिट स्कोर देने वाली एक एजेंसी है- Credit Information Bureau (India) Limited (CIBIL). यह प्रतिष्ठित क्रेडिट इन्फॉर्मेशन कंपनी है, और सिबिल स्कोर को पूरे देश में माना जाता है. सिबिल स्कोर बेसिकली तीन डिजिट का नंबर होता है, जिससे व्यक्ति के क्रेडिट हिस्ट्री, रिपोर्ट और रेटिंग तय की जाती है. यह 300 से 900 के बीच में होता है. जितना ऊपर होगा, उतना अच्छा होगा.

CIBIL रिपोर्ट क्या होता है?

सिबिल रिपोर्ट या Credit Information Report एक तरीके से व्यक्ति के क्रेडिट रिकॉर्ड और क्रेडिट हिस्ट्री का पूरा लेखा-जोखा होता है.  सिबिल रिपोर्ट में आपके आउटस्टैंडिंग लोन पेमेंट, लोन अकाउंट पर जारी की गई चेतावनी वगैरह भी दिखाई जाती है. CIBIL रिपोर्ट में नाम, पैन कार्ड, एड्रेस जैसी पर्सनल डीटेल्स भी हो सकती हैं.

निष्कर्ष में, क्रेडिट स्कोर आपकी लोन रीपेमेंट की क्षमता है, वहीं सिबिल स्कोर, सिबिल की ओर से दी जाने वाली रेटिंग है. वहीं, सिबिल रिपोर्ट आपका क्रेडिट बिहेयवियर और क्रेडिट हिस्ट्री का पूरा लेखा-जोखा है. सिबिल स्कोर के लिए पिछले 24 महीने की क्रेडिट हिस्ट्री कैलकुलेट की जाती है. वहीं, सिबिल रिपोर्ट में 36 महीनों का कैलकुलेशन होता है

error: Content is protected !!